विजिटर

It was Immense plesure to perform here in such a divine place... a different experience... would like to come here again... Best Wishes... - Vishwa Mohan Bhatt()

शुभकामनाओं सहित! - Mr. Ashokl Gahlot(CM)

नैतिकता का शक्तिपीठ आचार्यश्री तुलसी के संयममय एवं अप्रमत जीवन का जीवन्त निदर्शन है। शक्ति के बिना नैतिकता और नैतिकता के बिना शक्ति प्राणविहीन है इसीलिये आचार्यश्री ‘यस्तु क्रियावान एवं विद्वान’ रहे हैं। - Dr. Sadhana Jain()

आध्यात्मिक सन्त प्रवर के इस पवित्र स्थल पर आकर असीम शान्ति मिली, इच्छा होती है कि यहां प्रतिदिन आने का सुअवसर मिले जो जीवन में सकारात्मक और आशवदिता सदैव के लिए घर कर जाए। जीवन के इस व्यस्ततम माहौल में इस तरह के स्थल पर यदा-कदा आना भी जीवन को उद्देश्यपूर्ण बना सकता है। - वीरेन्द्र कुमार वर्मा(आर.ए.एस.)

अति गरिमापूर्ण स्थान शक्तिपीठ का हर कौना अध्यात्म से परिपूर्ण पाया मैं यहां उपस्थित होकर अपने को धन्य समझता हूं। - रामेश्वरानन्द(ब्रह्म गायत्री )

This is a Wonderful & Very peacceful and worth Visiting - Dr. Peter Flugi(London)

आचार्यश्री तुलसी जी के महान् व क्रान्तिकारी जीवन के स्पंदनों का अनुभव इस परमसुन्दर समाधि स्थल पर होता है। सच्चे साधक के लिए इससे उपयुक्त कोई साधना स्थली नहीं हो सकती। अपना सौभाग्य मानता हूं कि यहां राष्ट्र चिन्तन का अवसर मिला। - मुकुल कानिटकर(नागपुर)

नैतिकता का शक्तिपीठ के पावन स्थल पर आकर मन में पवित्र भावनाएं बन रही है। यहां पर नैतिकता की तरंगें निकल रही है। यहां आने वालों का निश्चित कल्याण करता है उनका जीवन दिव्य बनता है। - राजकुमार रिणवा(खनिज मंत्री)

These is immense peace that one feels immediately on entering the portals of this sacred space. The world has much to learn from the teaching and philosophy of Acharya Tulsi Ji. I wish the institution all the very best in all their endeavours and hope that they continue to do the good work that are involved with both here in Bikaner and outside. - Arti Dogra(IAS)

Beautiful, quiet place to be seen - Marise-Jose Cappez(Paris, France)

नैतिकता का शक्तिपीठ लगा गुरुदेव के साक्षात दर्शन हुए। मन असीम आनन्द व उत्साह से भर गया। गुरुदेव के नेतृत्व ने समाज को एक स्पष्ट व दूरगामी सोच प्रदान की, शत-शत नमन। दिव्य पुरुष के प्रति मन अपार श्रद्धा से भरा है, हमारा परम सौभाग्य है कि समाज को उनका नेतृत्व मिला। आचार्य तुलसी के जीवन चरित्र की चित्र श्रृंखला अद्भुत है। - हेमन्त जैन(आर.ए.एस.)

आचार्य तुलसी के 102वें जन्म दिन के कार्यक्रम में सम्मिलित होने पर ‘अण्रवुत एक्सप्रेस’ का जो मंचन हुआ और इस ट्रेन के माध्यम से जो संदेश समाज को मिला, इससे सिद्ध होता है कि आचार्य तुलसी का यह वाक्य अमर है ‘सुधरे व्यक्ति समाज व्यक्ति से राष्ट्र स्वयं सुधरेगा।’ - श्री अर्जुनराम मेघवाल(केन्द्रीय मंत्री)

आचार्य तुलसी शान्ति प्रतिष्ठान, स्मारक, ग्रन्थालय एवं संग्रहालय देखने का सौभाग्य मिला। यहां भारत और भारतीयता के दर्शन होते हैं। भारत को यहां आकर समझा और देखा जा सकता है। स्तुत्य प्रयास के लिए बधाई। - आंेकार सिंह लखावत(जयपुर)

इस स्थान पर आकर मुझे दिव्य आनन्द व शान्ति एवं आचार्यश्री की चेतना व्यापक तौर से सम्पूर्ण जगत में व्याप्त है व यहां विशेष व्याप्त है, उसकी अनुभूति हुई है। मैं धन्य हुआ। ऐसे व्यक्ति बार-बार संसार में नहीं आते। - आचार्यश्री विश्वनाथ (उज्जैन)

ईश्वर की अतिशय करूणा से आज आचार्य तुलसी समाधि स्थर पर आने का सुअवसर प्राप्त हुआ। इस परम पवित्र स्थान पर परम लौकिक आनन्द की अनुभूति हुई। यहां से प्रेम व करूणा की ज्योति सदैव जलती रहे व हर मानव में संस्कार रूपी ज्योति जलती रहे। - हेमेन्द्र कुमार (जिशिअ मा, बीकानेर)

श्रद्धेय आचार्यजी के समाधि स्थल पर अत्यन्त प्रेरणा प्राप्त हुई। संघ के द्वितीय सरसंघचालक श्री गुरुजी के उनकी प्रेरणा से 1964 में विश्व हिन्दू परिषद् की स्थापना की। समाज को आचार्यश्री के जीवन से सदैव प्रेरणा प्राप्त होती रहेगी। - राकेश जैन(नई दिल्ली)

It's such a serene & beautiful place. One can feel positive energy all around. Would like to come more frequently. All compliments to the governing board for wonderful. - Dr. Amandeep S. Kapoor(IPS)

आचार्य तुलसी की तपोभूमि का कण-कण रज-रज दिव्यानुभूति से भरा है। मैं यहां से बहुत कुछ ले जा रहा हूं। कृपा बनी रहे। - पं. विजय शंकर मेहता(उज्जैन)

प्रतिष्ठान में चतुर्दिश और सौन्दर्य का साम्राज्य है। बार-बार आने का मन करता है। - भगवान सिंह रोलसाहबसर()

आचार्य तुलसी शान्ति प्रतिष्ठान को देखकर हृदय गद्गद हो गया। पूरे क्षेत्र में आध्यात्मिकता का वातावरण सराहनीय रहा एवं हमारी अपनी संस्कृति का गहन अनुभव मिला। - डाॅ. बीआर छींपा(कुलपति, कृषि विवि)

शान्ति के अवधूत प.पू. गणाधिपति के नैतिकता का शक्तिपीठ के दर्शन किए मन मयूर खिल उठा। प.पू. गुरुदेव के देवलोक गमन के अवसर पर आज ही के 1997 में स्वर्गीय पूर्व उपराष्ट्रपति तत्समय के मुख्यमंत्री श्रीमान् भैरोंसिंह शेखावत एवं गुलाबचंद जी कटारिया उस समय शिक्षा मंत्री थे के साथ आने का सुयोग बना। आज पं.पू. गणाधिपति जी की सारी स्मृतियां ताजा हो गई। आज कटारिया जी भी साथ है पर वे डूंगरगढ़ है और मैं गणाधिपति के चरणों में। - श्री शान्तिलाल चपलोत(पूर्व अध्यक्ष, विस)

आचार्यश्री तुलसी की कृपा से ही राजनीति में ईमानदारी से एवं निष्ठापूर्वक कार्य कर पाया हूं। गुरुदेव का आशीर्वाद भविष्य में भी शक्ति प्रदान करेगा। - श्री गुलाबचन्द कटारिया(पूर्व गृहमंत्री)

आचार्यश्री तुलसी के समाधि स्थल नैतिकता का शक्तिपीठ में प्रवेश करके मन में इतनी खुशी हुई कि बयां नहीं कर सकता। मैं आग्रह करता हूं कि मारवाड़ी समाज ज्यादा से ज्यादा जुडे़। - श्री अमरचन्द सांड(एमएलए, असम विस)

मैंने आज आचार्य तुलसी समाधि के दर्शन किए, यहां आकर मुझे बहुत अच्छा लगा। आचार्य तुलसी जी के दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ मैं आचार्य तुलसी जी के दर्शन करके धन्य हो गई यहां की शान्ति मन को शान्ति से भर देती है। - साधु संतोष(बाईसा पीपाड़ा सिटी)

आज पहली बार आचार्य तुलसी समाधि के अलौकिक दर्शन करके अभिभूत हो गया। महान् आत्मा की यह शरण स्थली इतनी शान्ति व मन को आलोक प्रदान करती है। मैं परिवार सहित आधे घण्टे के लिए आया था, ढ़ाई घण्टे बाद भी जगह छोड़ने का मन नहीं करता। - श्री मगन बिस्सा(एवरेस्ट पर्वतारोही)

आज समाधि स्घ्थल के दर्शन किए, मेरे पूर्व जन्म में अच्छे कर्मों का फल है। मुझे दर्शन कर काफी सम्बल मिला। संस्था देशहित के लिए अच्छा कार्य कर रही है। हमारी शुभकामनाएं है। - श्री प्रमोद भाया जैन(पूर्व मंत्री)

मानवता को सर्वाच्च शिखर पर रखने वाले संत शिरोमणी आचार्यश्री तुलसी को शत्-शत् नमन। - श्री वेद प्रकाश(आईएएस, कलक्टर)

Such a peaceful place. I was very much close To Acharya Shri Tulsi ji. I fell so food to visit this place & find his aura here. I feel Blessed. - Dr. Bimal Chhajer(Saaol Heart Center)

नैतिकता का शक्तिपीठ में आने का अवसर मिला। शान्ति का परिवेश देखने को व समझने का अद्भुत स्थान है। आचार्य तुलसी के जीवन वृत व उनके आशीर्वाद व कृपा प्राप्त करने के लिए आए हुए महानुभावों के लिए चित्रावली से इतिहास की सही झलक मिलती है। - प्रो. भागीरथ सिंह(कुलपति, एमजीएसयू)

विश्व का इकलौता नैतिकता का शक्तिपीठ। आचार्यश्री तुलसी जी की समाधि का दर्शन कर बहुत अच्छा लगा। बड़ी शान्ति मिली। - श्री विष्णु देव साई(एमओएस (स्टील))

मुझे यहां आकर बड़ा आश्चर्य हुआ कि आचार्य तुलसी के स्मरण में आजकल कितनी अच्छी संस्थाएं स्थापित हो गयी है और उनको कितनी अच्छी ढंग से चलाते हैं। मैं आशा करता हूं कि ये संस्थाएं आने वाली पीढ़ियों को लंबे समय तक प्रोत्साहित करेंगे। - Imre Bengha(Oxford University)

वक्त के पलों से निकलकर कुछ पल शान्ति के मिले जिसे वाकई कभी भुलाया नहीं जा सकता। - श्री जितेन्द्र कटारिया(पीएम सैकेट्री, दिल्ली)

नैतिकता के शक्तिपीठ में आने से हर मनोभावों में बदलाव का अहसास होता है। पदाधिकारियों की मेहनत से यह स्थान रमणीक हो गया है तथा उत्तरोत्तर विकास की संभावनाएं है। - श्री भवानीशंकर शर्मा(पूर्व महापौर, बीकानेर)

अणुव्रतशास्ता आचार्यश्री तुलसी जी महाराज का जैसा महान् व्यक्तित्व था, वैसा ही आगे और आगे आचार्यों की परम्परा बनाये रखने की ऊर्जा शक्ति सम्पूर्ण संघ को प्राप्त होगी इस समाधि स्थल ‘शक्तिपीठ’ से। अवलोकन से प्राप्त प्रसन्नता के भावों के साथ शुभाशंसा के साथ। - आचार्य चन्दना जी()

समाधि स्थल का दर्शन एक अलौकिक अनुभूति रही, यहां की व्यवस्था, प्रबंधन भी उच्चकोटि का है। प्रबंधन समिति को शुभकामनाएं। - श्री नरेन्द्र कुमार (आईएएस)

अद्भुत अनुभव था यहां आना। आचार्य तुलसी के जीवन प्रसंगों की जानकारी एवं अंगीकार करना। शुभकामनाएं। - श्री अनिल दुबे(डीआरएम, बीकानेर)

I am very glad to came here it was nice sprinkle. I want to thank all the people of Bikaner to inviting me as jury and nice amazing experiences with karni mata temple. - Kumari Khusboo Sawan(Film Actress)

युगप्रवर्तक अणुव्रत अनुशास्ता नैतिक मूल्यों के प्रेरणा पुंज आचार्यश्री तुलसी जी की जन्म जयंती के अवसर पर साध्वी प्रमुखा श्री कनकप्रभाजी के द्वारा संपादित 108 पुस्तकों का प्रमुख विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों के प्रमुखों में वितरण किया गया यह कार्य उत्तमोत्तम लगा। पुस्तकें समाज का दर्पण होती है। उक्त गं्रंथों में आचार्यश्री तुलसी के वाड्मय का सांगोपांग विवेचन किया गया है इन ग्रंथों को पढ़कर युवा पीढ़ी अनुशासित बनेगी तथा संयममय जीवन जीते हुए अणुव्रत को अपनायेगी। मेरी शुभकामनाए। - श्री बी.डी. कल्ला(मंत्री, राजस्थान सरकार)

One of the most serence and clean setting of one of the most severed and Auguest saint Acharya Shree Tulsi Ji. May his soul always find peace and may his followers always propagate the massage of peace. - कु. सिद्धि कुमारी(विधायक, बीकानेर)

नैतिकता का शक्तिपीठ पर आना अत्यधिक सुखद रहा, संस्थान उसकी गतिविधियां और कार्यकलाप के बारे में जानकारी प्राप्त कर हर्ष हुआ। स्थान की पवित्रता और प्रवाहित हो रही ऊर्जा से भी लाभान्वित हुआ। उपस्थित विद्यार्थीवृन्द, शिक्षक, अभिभावक व श्रद्धालुओं से संवाद ज्ञानवर्द्धक रहा। सभी का आभार। - श्यामसिंह राजपुरोहित(आईएएस, निदेशक)

Very inspirational and enriching experience of know about the of HH Achary Tulsi. The Teachings should be promoted among youth for universal harmony. - Prahlad Munshi(Director Lok Sabha)

आज यहां आने का सुवसर प्राप्त हुआ। समाधिस्थल, लाईब्रेरी तथा चित्रदीर्घा में शान्ति का अनुभव हुआ। तेरापंथ समाज के सितारे हमारे गुरु आचार्य तुलसी स्वयं यहां विराजमान प्रतीत होते हैं। समस्त प्रबंधन समिति को व्यवस्थाओं हेतु साधुवाद। - श्री नवीन जैन(आई.ए.एस.)

Visited the place doing youth festival-2019. It is really great to know the work which has been carried by Acharya tulsi trust specially for cancer ailment. Well maintained & beautiful place. Epitome of knowledge. - Tanu Shree Pareek(Asstt. Comdt. BSF)

एक आवाज, एक अंदाज, एक आगाज का नाम है आचार्य तुलसी शान्ति प्रतिष्ठान, शुभकामनाएं सहित। आभार। - श्री ख्याली सहारण(हास्य कलाकार, सूरतगढ़)

जो ऊर्जा यहां से ले जा रहा हूं वो कई वर्षों तक मेरी आवाज में गूंजेगी। - श्री अनूप जलोटा(संगीतकार, मुम्बई)

God Bless Acharya Tulsi Cancer Center and the contribution. - Dr. S.G. Lodha(Jaipur)

आचार्य तुलसी की शिक्षा एवं प्रवचन सुनने का सौभाग्य बचपन से प्राप्त हुआ। शक्ति स्थल के दर्शन करने से असीम मानसिक शांति का आभास हुआ। - Col Yogesh Jain(Army Cantt. Bikaner)

अद्भुत व्यक्तित्व के स्पन्दन और परम शान्ति का अनुभव, एक साथ यहां होता है। - Shree K.C. Jain(IRS Honoray Director)

Incredible, A Great Experience - Shree N.S. Bissa(OSD )

It was great visiting this wonderful religions place on the 24th anniversary of Acharya Tulsi ji. The visit was on exceptionally calcining experience and the place is very well maintained. Extremely happy to see lots of dedicated sincere people. Best wishes - Jose Mohan(Jose Mohan, IG, bikaner)