दर्शन तुलसी आईडल

दर्शन चौपड़ा बने तुलसी आईडल
आचार्यश्री तुलसी की 24वीं पुण्यतिथि पर ’’महाप्राण गुरूदेव भक्ति संध्या’’ तथा ’’महाप्राण गुरूदेव गायन प्रतियोगिता का ग्रांड फिनाले’’ कार्यक्रम आयोजित
गंगाशहर।
आचार्य तुलसी शान्ति प्रतिष्ठान, गंगाशहर के तत्वावधान में आचार्यश्री तुलसी की 24वीं पुण्यतिथि के अवसर पर ऑनलाइन महाप्राण गुरूदेव भक्ति संध्या तथा महाप्राण गुरूदेव गायन प्रतियोगिता का ग्रांड फिनाले आयोजित किया गया। आचार्य तुलसी शान्ति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते आचार्य तुलसी की पुण्यतिथि के सभी कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किए गए जिसे देश-विदेशों में हजारों लोगों ने लाइव देखा। उन्होंने बताया कि गायन प्रतियोगिता में 16 प्रतिभागियों में से तीन फाइनलिस्ट बीकानेर से भव्या राठौड़, हनुमानगढ़ से अभिलाषा बांठिया तथा लुधियाना से दर्शन चौपड़ा को चुना गया। इनकी शाम 8 बजे से फेसबुक पर लाइव जोरदार प्रस्तुतियां दी गई।
           ट्रस्टी गणेश बोथरा ने बताया कि महाप्राण गुरूदेव भक्ति संध्या में देश के ख्यातिनाम कलाकार सिरसा से अमित सिंघी, भुवनेश्वर से कमल सेठिया, मुम्बई से मीनाक्षी भूतोडिया, सूरतगढ़ से पूजा बैद, दिल्ली से सुनीता बैंगाणी, हैदराबाद से खुशी कठोतिया, भीलवाड़ा से तनवी जैन, बीकानेर से पूजा सारस्वत के द्वारा भावभीनी प्रस्तुति ने सभी का मनमोह लिया।
            ट्रस्टी बसंत नौलखा ने बताया कि गायन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर लुधियाना के दर्शन चौपड़ा, द्वितीय स्थान पर हनुमानगढ़ से अभिलाषा बांठिया तथा तृतीय स्थान पर बीकानेर की भाव्या राठौड़ विजेता रहे। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन विशेष पुरस्कार की विजेता दार्जलिंग से सोनाली छाजेड़ रही। उन्होंने बताया कि निर्णायक की भूमिका संगीतज्ञ पं. पुखराज शर्मा, संगीतज्ञ कल्पना शर्मा व संगीतज्ञ सुमन शर्मा ने बखूबी निभाई।
          कोषाध्यक्ष विमल चौपड़ा ने बताया कि महाप्राण तुलसी गायन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 21 हजार, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले को 15 हजार, तृतीय स्थान पर रहने वाले को 11 हजार रूपये के चैक व स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित करेंगे तथा विशेष पुरस्कार के तौर पर 5100 रूपये का चैक दिया जाएगा।
            कार्यक्रमों की श्रृंखला में ’’घर-घर जप, तप और ध्यान’’ के संयोजक पीयूष लूणिया ने बताया कि आचार्यश्री तुलसी की 24वीं पुण्यतिथि के अवसर पर बीकानेर, गंगाशहर, भीनासर में श्रद्धालुओं ने घर-घर सामायिक कर आचार्यश्री को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में कुल 1008 लोगों ने अपने-अपने घरों में सामायिक कर गुरूदेव तुलसी को याद किया।
तुलसी ज्ञानोत्तरी प्रतियोगिता में लिया हजारों लोगों ने भाग
आचार्यश्री तुलसी की 24वीं पुण्यतिथि पर आयोजित हो रही ऑनलाइन ‘‘आचार्य तुलसी ज्ञानोत्तरी प्रतियोगिता’’ में लोगों का उत्साह शानदार रहा। अध्यक्ष जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि तीन दिन तक चली प्रतियोगिता में हजारों लोगों ने भाग लिया। अब तक कुल 1231 लोगों को ई-सर्टिफिकेट जारी हो चुके है। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता आचार्य तुलसी के जीवन के बारे में प्रश्न पूछे गए है। सवालों के सही जवाब देकर ई-सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते है। इस प्रतियोगिता में देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी लोगों द्वारा भाग लिया।